Skip to product information
1 of 6

Deep Singh Bhati

डिंगळ रसावळ

डिंगळ रसावळ

Regular price Rs. 250.00
Regular price Rs. 250.00 Sale price Rs. 250.00
Sale Sold out
Shipping calculated at checkout.

Introducing Dingal Rasawal Kavya Sangrah - a compilation of traditional Rajasthani poetry. Enjoy an immersive and authentic experience into the culture and history of this diverse region of India. Reacquaint yourself with the traditional and timeless art of Rajasthani poetry.

List of Content

पुस्तक में शामिल कविताएँ (राजस्थानी काव्य) :-

1. श्री कृष्ण रूपक
2. साँवरे रा सवैया
3. केशवा सप्तक
4. परभाती
5. श्री स्वांगीया जी के छंद
6. श्री करनी जी के छंद
7. श्री माजीसा भटियानी महिमा
8. श्री माजीसा आरती
9. श्री पनराज जी जूंझार के छंद
10. छत्रपति आलजी जूंझार के छंद
11. वीर बीकाँसी जूंझार के छंद
12. भक्त महाकवि ईसरदास आराधना
13. मोहन महिमा
14. सिद्ध परंपरा और तारातरा मठ
15. श्री ॐ बन्ना महिमा
16. सिद्ध खेमाबाबा महिमा
17. महाराणा प्रताप का गीत
18. शहीद पूनम सिंह भाटी का गीत
19. शौर्य चक्र शहीद कानसिंह सुजस
20. शहीद प्रभु सिंह राठौड़ का सोरठा
21. शहीद राजेन्द्र सिंह भाटी मोहनगढ़ सुजस
22. शहीद उगम सिंह राठौड़ सुजस
23. आड़ावल महिमा
24. डॉ. नारायण सिंह भाटी सुजस
25. स्व. तनसिंह चौहान सुजस
26. संत स्व तुलसाराम जंगिड़ सुजस
27. स्व किशोर सिंह भाटी राजमथाई सुजस
28. ठाकुर केशर सिंह जी राठौड़ सुजस
29. बाड़मेर बखाण
30. ओरण इकतीसी
31. बसंद बहार कवित्त
32. वरसाला महिमा
33. रुत वरसाला रंग
34. जल महिमा
35. दिवाली महिमा
36. सड़क संभाल संदेश सप्तक
37. युवानी
38. नव बरस नमण
39. मतदान गीत
40. आ केड़ी है आजादी
41 डिंगल म्हारी जान है
42. सीख पचीसी

Highlights

• डिंगल काव्य शैलीकी विभिन्न विधाओंमें रचित
• छंदों के साथ गेय काव्य रचनाओं का अनूठा संगम
• हिंदी, राजस्थानी, ब्रज और गुजराती सहित विभिन्न लोक भाषाओं में अलंकृत
• लुप्त हो रही समृद्ध साहित्यिक शैली को संरक्षित करने और बढ़ावा देने की पहल
• ओजस्वी डिंगल काव्य के छंदों से अलंकृत

Details

Author: Deep Singh Bhati
Language: Rajasthani
Book Length: 128 Pages
Publication Year: 2019
ISBN: 978-81-944040-9-5
Edition: First

Sold By: Dingal Rasawal Shodh Sansthan
Barmer, Rajasthan

View full details